महत्वपूर्ण जानकारी

भारत रत्न पुरस्कार विजेता की सूची Bharat Ratna Winners List in Hindi

Bharat Ratna (भारत रत्न): भारत सरकार द्वारा भारत रत्न पुरस्कार की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी। भारत रत्न पुरस्कार को देश का सबसे सर्वोच्च पुरस्कार है और कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल के क्षेत्र विशेष सेवा या फिर बेहतर प्रदर्शन करने वाले व्यक्ति को सन्मान के साथ दिया जाता है। भारत रत्न पुरस्कार किसी भी पद, जाति, लिंग और व्यवसाय के भेदभाव के बिना विविध क्षेत्र सेवा या फिर बेहतर की योग्यता के आधार दिया जाता है। प्रथम भारत रत्न पुरस्कार डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन, चक्रवर्ती राजगोपालाचारी, डॉक्टर चन्‍द्रशेखर वेंकटरमण को साल 1954 में प्रदान गया था।

भारत रत्न पुरस्कार

भारत रत्न पुरस्कार विजेता की सूची – Bharat Ratna Winners List in Hindi

क्रमवर्षनाम
11954डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन
21954चक्रवर्ती राजगोपालाचारी
31954डॉक्टर चन्‍द्रशेखर वेंकटरमण
41955डॉक्टर भगवान दास
51955सर डॉ॰ मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या
61955पं. जवाहर लाल नेहरु
71957गोविंद वल्लभ पंत
81958डॉ॰ धोंडो केशव कर्वे
91961डॉ॰ बिधन चंद्र रॉय
101961पुरूषोत्तम दास टंडन
111962डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद
121963डॉ॰ जाकिर हुसैन
131963डॉ॰ पांडुरंग वामन काणे
141966लाल बहादुर शास्त्री
151971इंदिरा गाँधी
161975वराहगिरी वेंकट गिरी
171976के. कामराज
181980मदर टेरेसा
191983आचार्य विनोबा भावे
201987खान अब्दुल गफ्फार खान
211988एम जी आर
221990बाबा साहेब डॉ॰ भीमराव रामजी आंबेडकर
231990नेल्सन मंडेला
241991राजीव गांधी
251991सरदार वल्लभ भाई पटेल
261991मोरारजी देसाई
271992मौलाना अबुल कलाम आज़ाद
281992जे आर डी टाटा
291992सत्यजीत रे
301997डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम
311997गुलजारी लाल नंदा
321997अरुणा असाफ़ अली
331998एम एस सुब्बुलक्ष्मी
341998सी सुब्रामनीयम
351999जयप्रकाश नारायण
361999पं. रवि शंकर
371999अमृत्य सेन
381999गोपीनाथ बोरदोलोई
392001लता मंगेशकर
402001उस्ताद बिस्मिल्ला ख़ां
412008पं.भीमसेन जोशी
422014सी॰ एन॰ आर॰ राव
432014सचिन तेंदुलकर
442015अटल बिहारी वाजपेयी
452015महामना मदन मोहन मालवीय

भारत रत्न पुरस्कार विजेता की सूची PDF :- Download

भारत रत्न पुरस्कार विजेताओं की संक्षिप्त जानकारी bharat ratna award winners ki mahiti in hindi

चक्रवर्ती राजगोपालाचारी (वर्ष 1954 – समाज सेवा)

चक्रवर्ती राजगोपालाचारी को वर्ष 1954 में भारतीय राजनीति के चाणक्य की पहचान और समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न से सम्मानित किया गया। और भारत रत्न पुरस्कार सबसे पहले चक्रवर्ती राजगोपालाचारी को मिला था। यानि की सबसे पहले भारत रत्न अवोर्ड विजेता थे।

सर्वपल्ली राधाकृष्णन (वर्ष 1954 – दार्शनिक )

डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन प्रसिद्ध दार्शनिक थे। और डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन वर्ष 1952 से 1962 तक भारत के उपराष्ट्रपति भी रहे थे उसके बाद सर्वपल्ली राधाकृष्णन को वर्ष 1962 में भारत के राष्ट्रपति के भी के पद पर देश की सेवा की। सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन 5 सितंबर को पुरे भारत में शिक्षक दिन के रूप में सभी स्कूल में मनाया जाता है। डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन को श्रेष्ट दार्शनिक व्यक्ति के तौर पर वर्ष 1954 में भारत रत्न (Bharat Ratna) पुरस्कार प्रदान किया था।

सी.वी. रमन (चन्द्रशेखर वेंकटरमन) (वर्ष 1954 – विज्ञान )

रमन प्रभाव की खोज करने वाले सी.वी. रमन दुनियाभर में जाने जाते है। सी.वी. रमन को नोबेल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था, सी.वी. रमन को वर्ष 1954 में विज्ञान के क्षेत्र में भारत रत्न (Bharat Ratna) पुरस्कार प्रदान किया था।

भगवान दास (वर्ष 1955- ब्रह्मविद्यावादी)

भगवान दास को वर्ष 1955 श्रेष्ट ब्रह्मविद्यावादी (थिओसोफिस्ट) व्यक्ति के तौर पर भारत रत्न (Bharat Ratna) पुरस्कार से नवाजा गया था। भगवान दास ने महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ की सह-स्थापना भी की थी। और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना करने में मदन मोहन मालवीय की मदद भी की थी।

एम विश्वेश्वरय्या (वर्ष 1955 – विज्ञान (अभियन्ता))

एम विश्वेश्वरय्या को वर्ष 1955 में श्रेष्ट विज्ञान (अभियन्ता) व्यक्ति के तौर पर भारत रत्न पुरस्कार (Bharat Ratna) से सन्मानित किया गया था। भारत में हर साल एम विश्वेश्वरय्या के जन्मदिन, 15 सितंबर को इंजीनियर्स डे के रूप में मनाया जाता है।

जवाहर लाल नेहरू (वर्ष 1955 – समाज सेवा)

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को उनकी समाज सेवा के लिए वर्ष 1955 में भारत रत्न पुरस्कार से सन्मानित किया गया था। और जवाहर लाल नेहरू सबसे लंबे समय यानि की वर्ष 1947 से वर्ष 1964 तक प्रधानमंत्री का कार्यभार संभाला था।

गोविंद बल्लभ पंत (वर्ष 1957 – समाज सेवा)

गोविंद बल्लभ पंत को उनकी समाज सेवा के लिए वर्ष 1957 में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। गोविंद बल्लभ पंत ने स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उन्होने वर्ष 1950 से वर्ष 1954 तक उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री के तौर पर समाज सेवा की और वर्ष 1955 में, वह भारत के गृह मंत्री भी रह चुके है।

धोंडो केशव कर्वे (वर्ष 1958 – समाज सेवा)

धोंडो केशव कर्वे एक शिक्षक और समाज सुधारक थे। उनको वर्ष 1958 में समाज सेवा के क्षेत्र भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। महिलाओं के विकास के लिए विधवा विवाह संघ, हिंदू विधवा और 1916 में श्रीमती नाथीबाई दामोदर थ्रैक्रसे महिला विश्वविद्यालय कि स्थापना की थी।

डॉ. बिधान चंद्र रॉय (वर्ष 1961 – चिकित्सा, वैद्यक)

बिधान चंद्र रॉय जानेमाने चिकित्सक (वैद्यक) थे। भारत को स्वतंत्रता दिलाने में बिधान चंद्र रॉय का अच्छा सहयोग था। बिधान चंद्र रॉय वर्ष बंगाल के मुख्यमंत्री भी रहे थे। डॉ. बिधान चंद्र रॉय को वर्ष 1961 में चिकित्सा, वैद्यक के क्षेत्र भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था।

पुरुषोत्तम दास टंडन (वर्ष 1961 – समाज सेवा, स्वतंत्रता सेनानी)

पुरुषोत्तम दास टंडन को वर्ष 1961 में समाज सेवा के लिए भारत रत्न पुरस्कार से सन्मान किया गया था। भारत के स्वतंत्रता सेनानी पुरुषोत्तम दास टंडन “राजर्षि”नाम से भी जाने जाते है यानि की उसको “राजर्षि” नाम का दर्जा दिया गया था।

डा. राजेंद्र प्रसाद (वर्ष 1962 – समाज सेवा, स्वतंत्रता सेनानी)

डा. राजेंद्र प्रसाद कोवर्ष 1962 में श्रेष्ट समाज सेवा के लिए भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। डा. राजेंद्र प्रसाद स्वतंत्रत भारत के पहले राष्टपति वर्ष 1950 से वर्ष 1962 तक रहे।

डा. जाकिर हुसैन (वर्ष 1963 – विद्वान, समाज सेवा)

डा. जाकिर हुसैन वर्ष 1963 में श्रेष्ट समाज सेवा के लिए भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। डा. जाकिर हुसैन पहले भारत के उपराष्ट्रपति, राष्ट्रपति और एक महान स्वतंत्रता सेनानी भी थे।

पांडुरंग वामन काणे (वर्ष 1963 – संस्कृत विद्वान, साहित्य सेवा,)

पांडुरंग वामन काणे को वर्ष 1963 संस्कृत विद्वान, साहित्य सेवा के लिए भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। पांडुरंग वामन काणे संस्कृत के बड़े विद्वान थे। वह भारत के प्राचीन और मध्यकालीन धार्मिक, भारतीय संस्कृति प्रेमी थे।

लाल बहादुर शास्त्री (वर्ष 1966 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा,)

लाल बहादुर शास्त्री को वर्ष 1966 में स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। लाल बहादुर शास्त्री वर्ष 1964 से वर्ष 1966 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। उन्होंने वर्ष 1965 का भारत – पाकिस्तान के युद्ध में भारत का नेतृत्व भी किया था। लाल बहादुर शास्त्री ने “जय जवान जय किसान” का नारा दिया हैं।

इंदिरा गाँधी (वर्ष 1971 – राजनीतिज्ञ, समाज सेवा)

इंदिरा गाँधी को वर्ष 1971 में राजनीतिज्ञ, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। इंदिरा गाँधी वर्ष 1966 से वर्ष 1977 और वर्ष 1980 से वर्ष 1984 तक भारत की प्रधानमंत्री (PM) रह चुकी थी। इंदिरा गाँधी को आयरन लेडी के उपनाम से भी जाना जाता है।

वी वी गिरी (वर्ष 1975 – श्रमिक संघवादी, समाज सेवा,)

वी वी गिरी को वर्ष 1975 श्रमिक संघवादी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। वी वी गिरी एक विख्यात स्वतंत्रता सेनानी और भारत के पहले स्वतंत्रता सेनानी कार्यवाहक अध्यक्ष थे और वर्ष 1969 में वी वी गिरी को राष्ट्रपति बनाया गया था।

के कामराज (वर्ष 1976 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा,)

के कामराज को वर्ष 1976 में स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। के कामराज तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रह चुके है।

मदर टेरेसा (वर्ष 1980 – कॅथोलिक नन, समाज सेवा)

मदर टेरेसा को वर्ष 1980 में कॅथोलिक नन, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार से सन्मानित किया गया था। मदर टेरेसा अपने दान के काम के लिए पुरे दुनिया भर में प्रसिद्ध थे। उन्होने कैथोलिक नन की स्थापना की थी। वर्ष 1979 में उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार भी मिला था।

विनोबा भावे (वर्ष 1983 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

विनोबा भावे को वर्ष 1983 में स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। विनोबा भावे समाज सुधारक और भूमि-उपहार आंदोलन के साथ जुड़े हुए थे हैं। विनोबा भावे को वर्ष 1958 में रमन मैगसेसे पुरस्कार प्रदान किया गया था।

खान अब्दुल गफ्फार खान (वर्ष 1987 – स्वतंत्रता सेनानी- समाज सेवा)

खान अब्दुल गफ्फार खान को वर्ष 1987 में स्वतंत्रता सेनानी समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। खान एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी थे और उसने खुदाई खिद्मतगार की स्थापना की थी। और उसको फ्रंटियर गाँधी के नाम से भी जाना जाता है।

मरुदुर गोपालन रामचन्द्रन (वर्ष 1988 – अभिनेता, राजनीतिज्ञ,समाज सेवा)

मरुदुर गोपालन रामचन्द्रन को वर्ष 1988 में अभिनेता, राजनीतिज्ञ,समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। रामचंद्रन एक अभिनेता थे, जो बाद मे राजनीति में समाज सेवा का अच्छा योगदान दिया और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री भी रहे।

डॉ. भीमराव आम्बेडकर (वर्ष 1990 – राजनीतिज्ञ, अर्थशास्त्री, समाज सेवा)

डॉ. भीमराव आम्बेडकर को वर्ष 1990 में राजनीतिज्ञ, अर्थशास्त्री, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। दलित नेता की पहचान रखने वाले डॉ. भीमराव आम्बेडकर ने दलितों के सामाजिक भेदभाव के खिलाफ के अभियान में अपना योगदान दिया था। भारत की आजादी के बाद, डॉ. भीमराव आम्बेडकर ने भारतीय संविधान की रचना करने में सबसे अहम भूमिका निभाई थी। वह भारत के पहले कानून मंत्री भी बने थे।

नेल्सन मंडेला (वर्ष 1990 – रंगभेद विरोधी आंदोलन के नेता, समाज सेवा)

नेल्सन मंडेला को वर्ष 1990 में रंगभेद विरोधी आंदोलन के नेता, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। मंडेला ने दक्षिण अफ्रीका के रंगभेद विरोधी आंदोलन में अग्रणी नेता के तौर पे अपनी सेवा दी थी। नेल्सन मंडेला वर्ष 1994 से वर्ष 1999 तक दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के राष्ट्रपति भी रह चुके थे। नेल्सन मंडेला को अफ्रीका के गाँधी के नाम से भी जाना जाता था।

राजीव गांधी (वर्ष 1991 – राजनीतिज्ञ, समाज सेवा)

राजीव गांधी को वर्ष 1991 में राजनीतिज्ञ, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। वर्ष 1984 से वर्ष 1989 तक राजीव गांधी भारत के सबसे युवा प्रधानमंत्री थे रह चुके है।

वल्लभभाई पटेल (वर्ष 1991 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

वल्लभभाई पटेल को वर्ष 1991 मे स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। स्वतंत्रता सेनानी वल्लभभाई पटेल ने भारतीय रजवाड़े को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इसलिए उन्हें भारत के आयरन मैन की उपाधि दी गई, और गुजरात में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी बनाई गई है।

मोरारजी देसाई (वर्ष 1991 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

मोरारजी देसाई को वर्ष 1991 में स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। मोरारजी देसाई भारत के प्रधानमंत्री भी रह चुके है।

अबुल कलाम आजाद (वर्ष 1992 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

अबुल कलाम आजाद को वर्ष 1992 में स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। अबुल कलाम आजाद ने भारत के प्रथम शिक्षामंत्री के तौर पे अपनी भूमिका निभाई थी।

जेआरडी टाटा (वर्ष 1992 – उद्योगपति, समाज सेवा)

जे आर डी टाटा को वर्ष 1992 में उद्योगपति, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। जेआरडी टाटा उद्योगपति के साथ-साथ समाज-सेवी थे। जेआरडी टाटा ने एयर इंडिया, टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च आदि की स्थापना कीई है।

सत्यजित राय (वर्ष 1992 – फ़िल्म निर्माता-निर्देशक, कला (सिनेमा) )

सत्यजित राय को वर्ष 1992 में फ़िल्म निर्माता-निर्देशक, कला-सिनेमा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। महान फिल्म निर्माताओं में से एक सत्यजित राय को वर्ष 1984 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार और अकादमी मानद पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इनकी सबसे प्रसिद्ध कृतियों में से एक पथेर पांचाली है।

गुलजारीलाल नंदा (वर्ष 1997 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

गुलजारीलाल नंदा को वर्ष 1997 में  स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। नंदा ने योजना आयोग के दो बार चयनित उपाध्यक्ष, वर्ष 1964 में नहेरु जी के मृत्यु के बाद और वर्ष 1966 में लाल बहादुर शास्त्री की मृत्यु के बाद भारत के अंतरिम प्रधानमंत्री के रूप में भी कार्य किया।

अरुणा आसफ़ अली (वर्ष 1997 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

अरुणा आसफ़ अली को वर्ष 1997 मे स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। अरुणा आसफ़ अली, उन्हे 1942 में भारत छोडो आंदोलन के दौरान, मुंबई के गोवालीया मैदान में कांग्रेस का झंडा फ्हराने के लिये हमेशा याद किया जाता है। वह दिल्ली में वर्ष 1958 में चयनित पहली मेयर थीं।

डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम (वर्ष 1997 –  विज्ञान)

डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम को वर्ष 1997 में विज्ञान के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। ऐ पी जे अब्दुल कलाम एक प्रशंसित अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी (ऐरोस्पेस) और रक्षा वैज्ञानिक थे। भारत के लिए वह इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्रामिंग के पितामह थे। डॉ. अब्दुल कलाम वर्ष 2002 से वर्ष 2007 तक भारत के राष्ट्रपति भी रह चुके है और “मिसाइल मैन” भी कहे जाते हे।

एमएस सुब्बुलक्ष्मी (वर्ष 1998 – शास्त्रीय गायिका, कला)

एम एस सुब्बुलक्ष्मी को वर्ष 1998 में शास्त्रीय गायिका, कला के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। सुब्बुलक्ष्मी एक कर्नाटक शास्त्रीय संगीत गायिका थीं। उन्होंने गायक श्रेणी में रमन मैगसेसे पुरस्कार जीता था और वह रमन मैगसेसे पुरस्कार प्राप्त करने वाली पहली भारतीय थीं। सुब्बुलक्ष्मी को “गीतों की रानी” के रूप में भी जाना है।

चिदंबरम सुब्रमण्यम (वर्ष 1998 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

चिदंबरम सुब्रमण्यम को वर्ष 1998 में  स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। सुब्रमण्यम वर्ष 1964 से वर्ष 1966 तक भारत के कृषि मंत्री रहे। भारत में हरित क्रांति लाने के क्षेत्र में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा था। उन्होंने रक्षा व् वाणिज्य मंत्री के रूप में भी देश की सेवा की।

जयप्रकाश नारायण (वर्ष 1999 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

जयप्रकाश नारायण को वर्ष 1999 में स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। जयप्रकाश नारायण को वर्ष 1970 के दशक में इंदिरा गांधी की सरकार के खिलाफ किए गए ‘सम्पूर्ण क्रांति’ नामक आंदोलन के लिए जाना जाता है। वह मशहूर समाजसेवी थे और “लोकनायक” से भी जाने जाते थे। उन्हें समाजसेवा के लिए 1964 में मैगससे पुरस्कार भी दिया गया था।

अमर्त्य सेन (वर्ष 1999 – अर्थशास्त्री, विज्ञान(अर्थशास्त्र))

अमर्त्य सेन को वर्ष 1999 में अर्थशास्त्री, विज्ञान(अर्थशास्त्र) के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। अमर्त्य सेन एक प्रसिद्ध अर्थशास्त्री हैं। उन्हें वर्ष 1998 में अर्थशास्त्र में नोबेल मेमोरियल पुरस्कार से भी सन्मानित किया गया था। अमर्त्य सेन हार्वड यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर है।

गोपीनाथ बोरदोलोई (वर्ष 1999 – स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा)

गोपीनाथ बोरदोलोई को वर्ष 1999 में  स्वतंत्रता सेनानी, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। वह असम के पहले मुख्यमंत्री थे। बोरदोलोई वर्ष 1946 से वर्ष 1950 तक असम के मुख्यमंत्री रहे। विभाजन के दौरान असम को भारत के साथ जोडने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी।

पण्डित रवि शंकर (वर्ष 1999 सितार वादक, कला)

पण्डित रवि शंकर (वर्ष 1999 सितार वादक, कला के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। रविशंकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक जानेमाने सितार-वादक थे। वह चार ग्रैमी पुरस्कारों को अपने नाम कर चुके हैं। उन्होंने जॉर्ज हैरिसन के साथ काम करके अपनी खास पहचान बनाई।

लता मंगेशकर (वर्ष 2001 – पार्श्व गायिका, कला)

लता मंगेशकर (वर्ष 2001 – पार्श्व गायिका, कला के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। भारत की कोकिला (कोयल) कहे जाने वाली लता मंगेशकर को मधुर आवाज के कारण पूरी दुनिया पहचानती है। उन्होंने 36 से अधिक भाषाओं में गाने गाए हैं। लता मंगेशकर को सन 1989 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से भी सन्मानित किया गया हैं।

बिस्मिल्ला खाँ (वर्ष 2001 – शहनाई वादक, कला)

लता मंगेशकर को वर्ष 2001 में  पार्श्व गायिका, कला के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। बिस्मिल्लाह खाँ ने न केवल भारत में, बल्कि दुनिया भर में शहनाई-वादक के रूप में प्रसिद्धि हासिल की है। शहनाई को लोकप्रिय बनाने में एक प्रमुख भूमिका निभाई है।

भीमसेन जोशी (वर्ष 2008 शास्त्रीय गायक, कला)

भीमसेन जोशी को वर्ष 2008 में शास्त्रीय गायक, कला के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था।भीमसेन जोशी एक प्रशंसित शास्त्रीय संगीत के गायक थे। सन 1985 भारत सरकार ने उनको पद्म भूषण पुरस्कार से भी सन्मानित किया था।

सी एन आर राव (वर्ष 2014 – रसायन वैज्ञानिक, विज्ञान)

सी एन आर राव को वर्ष 2014 में रसायन वैज्ञानिक, विज्ञान के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। चिंतामणि नागेश रामचंद्र राव (सी एन आर राव) प्राध्यपक के साथ-साथ एक रसायनज्ञ भी थे। इन्होंने घन-अवस्था और संरचनात्मक रसायन शास्त्र, स्पेक्ट्रोस्कोपी, मॉलिक्यूलर स्ट्रक्चर और रसायन विज्ञान में काफी काम किया है। डॉ. राव ने ४५ से ज्यादा पुस्तकें और १५०० से ज्यादा शोधपत्र लिखें है।

सचिन तेंदुलकर (वर्ष 2014 – क्रिकेट खिलाड़ी, खेल)

सचिन तेंदुलकर को वर्ष 2014 में क्रिकेट खिलाड़ी, खेल के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। विश्व के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक, “क्रिकेट के भगवान” कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने 664 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं। वह एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज हैं। वर्ष 2008 में उन्हें पद्म विभूषण से भी पुरस्कृत किया गया है।

मदन मोहन मालवीय (वर्ष 2015 – विद्वान, समाज सेवा)

मदन मोहन मालवीय को वर्ष 2015 में विद्वान, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। मदन मोहन मालवीय ने काशी हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना की थी। उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में, पत्रकारिता, वकालत, समाज सुधार, मातृ भाषा तथा भारतमाता की सेवा का भी काम किया। वर्ष 1924 से वर्ष 1946 तक, वह हिंदुस्तान टाइम्स के अध्यक्ष भी रहे।

अटल बिहारी वाजपेयी (वर्ष 2015 – राजनीतिज्ञ, समाज सेवा)

अटल बिहारी वाजपेयी को वर्ष 2015 में राजनीतिज्ञ, समाज सेवा के क्षेत्र में भारत रत्न पुरस्कार प्रदान किया गया था। भारत के दसवें प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी वर्ष 1996 से 1998 और वर्ष 1999 से वर्ष 2004 तक प्रधानमंत्री पद पर रहे। वर्ष 1977 से वर्ष 1979 तक, वह विदेशमंत्री रहे। सन 1994 में वाजपेयी जी को सर्वश्रेष्ठ संसदीय पुरस्कार से सन्मानित किया गया था।

Leave a Comment

3 × two =