सोमवार, नवम्बर 19Important Information

अपने बच्चो कों Mobile न दें ! – जानिए क्यों Mobile बच्चो के लिए है हानिकारक। Harmful effects of Mobile Radiation for children Hindi

mobile radiation:- आजकल लोग अपने बच्चों को Mobile फोन देने में संकोच नहीं करते। बच्चे लगभग एक साल की उम्र से ही Mobile Phone की जिद करने लगते है। Mobile Phone में  गेम खेलना, वीडियो देखना आदि बच्चों को बहुत पसंद होता है। लेकिन Mobile Phone का बच्चो पर बुरा असर पड़ सकता है। वर्तमान के बच्चे Radio-Frequency (रेडियो फ्रीक्वेंसी ) वाले वातावरण में बडे हो रहे हैं। मोबाइल फोन में भी रेडियो फ्रीक्वेंसी का उपयोग होता है, जो की नॉन आयोंनाईज़ रेडिएशन- mobile radiation का एक रूप ही है। मोबाइल फोन बच्चों के लिए शारीरिक और मानसिक समस्याएं पैदा कर सकता है।

➣ Mobile Radiation से स्वास्थ्य संबंधित खतरें:

पिछले कुछ सालों से यह सिर्फ मात्र एक अनुमान था कि मोबाइल फोन हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं। द जर्नल ऑफ़ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के अध्ययन में पाया गया था कि मोबाइल फोन मस्तिष्क प्रणाली पर प्रतिक्रिया कर सकते हैं! बच्चों के लिए मोबाइल फोन के संभावित स्वास्थ्य खतरों निम्नानुसार हैं:

A. गैर-घातक ट्यूमर (Non-Malignant Tumors):

अध्ययन बताते हैं कि जो बच्चे Mobile Phone का ज्यादा इस्तेमाल करते हो उनके कान और मस्तिष्क में गैर-घातक ट्यूमर (Non-Malignant Tumors) बन सकते है।

B. केन्सर (Cancer):

WHO ने सेलफोन के रेडिएशन ( mobile radiation )का वर्गीकरण ‘possibly carcinogenic to humans (संभवतः मनुष्यों के लिए कैंसरजनक)’ की श्रेणी में किया है। इस Mobile Madiation को वयस्क की तुलना में बच्चों का दिमाग 60% ज्यादा सोखता है। बच्चों के दिमाग की पतली चमड़ी, मांसपेशियां, और हड्डी वयस्क की तुलना में दो-गुना ज्यादा रेडिएशन सोखती है। उनकी विकसित हो रही नर्वस सिस्टम के लिए यह ‘कार्सिनोजन’ अतिसंवेदनशील है।

 mobile radiation Image

C. मस्तिष्क पर प्रभाव:

वैज्ञानिकों ने खोज की है कि फोन कोल के मात्र 2 मिनट बच्चों के मस्तिष्क की एलेक्ट्रोरल एक्टिविटी को एक घंटे के लिए बदल सकता है। Mobile Phone में से आ रहे रेडियो वेव पतली चमड़ी के कारन बच्चे मस्तिष्क के ज्यादा अन्दर तक प्रवेश कर सकते हैं और मस्तिष्क की गतिविधियों को बाधित कर शकते है। मस्तिष्क की बाधित हुई गतिविधियां बच्चें की शिखने की क्षमता और अन्य व्यवहार को प्रभावित कर शकती है। अगर आपके बच्चे ने स्कूल में रेस्ट के दोरान मोबाइल का use किया हो तब भी वह क्लासरूम में बच्चे का स्वभाव व शिखने की क्षमता को प्रभावित कर शकता है।

Also Read:  All Bank Balance Check (Enquiry) Number List | बैंक बैलेंस इन्क्वारी नंबर
➣ सावधानियां :

माता-पिता के रूप में, आपको Mobile Phone की हानिकारकता को ध्यानमे रखते हुए कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए।

  • यदि आपका बच्चा 16 साल से छोटा हो तों उसको मोबाइल न दे। छोटी उम्रके बच्चों का मस्तिष्क मोबाइल रेडिएशन  ( mobile radiation ) के प्रति अतिसंवेदनशील होता है।
  •  फोन कोल के दोरान डायरेक्ट कान पे रखकर बात करने की बजाय ऐर-ट्यूब हेडसेट का उपयोग कराए।
  • बच्चे को बस, ट्रेन, कार जेसी मेटल से घिरी जगहों पर फोन का उपयोग न करने दे, क्योकि mobile सिग्नल को मेटल के पार भेजने के लिए पावर लेवल बढ़ा देता है।
  • जब सिग्नल कमजोर हो तब भी अपने बच्चें को मोबाइल का उपयोग न करने दे, क्योकि तब mobile phone सिग्नल पकड़ने लिए पावर बढ़ाके दुसरे रिले-एन्टेना के साथ जुड़ने का प्रयास करता है।
  • सुनिश्चित करें कि आपके घर या बच्चों के स्कूल नजदीक मोबाइल फोन मास्ट या नेटवर्क टावर न हों।
  • बच्चों को स्कूल में फोन लेजाने न दे।

 mobile radiation image

इस लेख को पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद, हमें उम्मीद है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा।
इस प्रकार की जीवन जरुरी और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारा जरुरी ज्ञान पेज like कीजिये और दुसरो के साथ शेयर कीजिये। धन्यवाद…
Find this Article helpful then Share With Your Friends

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

two × five =