त्योहार

Makar Sankranti (मकर संक्रांति 2019) | पोंगल – खिचड़ी – उत्तरायण – माघी | पूरी जानकारी

Makar Sankranti (मकर संक्रांति 2019)

Makar Sankranti (मकर संक्रांति) 2019: भारत के अलग-अलग प्रान्तों में अलग-अलग नाम से जाना जाता व् मनाया जाता एक प्रमुख त्यौहार हैं मकर संक्रांति। यह त्यौहार भारत के अलावा अन्य देशों में भी दूसरें नामों के साथ मनाया जाता है। सूर्य का “मकर” राशि में “संक्रांति” यानि की संक्रमण होने से इस दिन को मकरसंक्रांति कहा जाता है। इस दिन को दान पुण्य के लिए बड़ा शुभ दिन माना जाता है।

मकर संक्रांति 2019 कब है?

15 जनवरी 2019 मंगलवार

हर साल जनवरी महीने की 14 तारीख को मकर संक्रांति (Makar Sankranti) का त्यौहार मनाया जाता है। लेकिन् इस साल यानि की 2019 में सूर्य शाम 7:53 बजे राशि परिवर्तन करके मकर राशि में जायेगा। इसलिए इस साल मकरसंक्रांति का त्यौहार 14 जनवरी के बजाय 15 जनवरी को मनाया जाएगा।

भारत के अलग अलग प्रदेशों में मकर संक्रांति को खिचड़ी, उत्तरायण, पोंगल, संक्रांति, माघी, मकर संक्रमण जेसे विभन्न नाम से मनाया जाता है। भारत उपरांत नेपाल में माधे संक्रांति, बांग्लादेश में पौष संक्रांति, थाईलैंड में सोंगकरन, श्रीलंका में पोंगल आदि नामों से जाना और मनाया जाता है।

इस त्यौहार पर देश की गंगा और नर्मदा जेसी पवित्र नदी में स्नान का महत्त्व है और गंगा नदी के किनारे माघ मेला आयोजित किया जाता है। कुंभ के स्नान की शुरुआत इसी दिन से होती है। उत्तरप्रदेश में खिचड़ी पर्व के रूप में इस दिन खिचड़ी खाई और दान की जाती है। आंध्रप्रदेश में संक्रांति के नाम से 3 दिन यह त्यौहार मनाया जाता है। गुजरात और राजस्थान में उत्तरायण के रूप में इस पर्व को मनाया जाता है। वहा इस दिन लोग बड़े उत्साह के साथ पतंग उड़ाते है और गुजरात में अंतर्राष्ट्रीय पतंग उत्सव का आयोजन किया जाता है।

मकरसंक्रांति 2019

वही इसी दिन तमिलनाडु में पोंगल के नाम से किसानो का प्रमुख त्यौहार माना जाता है। नई फसलों का स्वागत करते हुए किसान इस त्यौहार उत्साह से मनाते है। महाराष्ट्र और अन्य जगहों पर तिल और गुड्ड की मिठाईयां बनातें और बांटते है। पंजाब में मकरसंक्रांति के पिछले दिन लोहड़ी के रूप में बड़ी धूमधाम के साथ समारोहों करते है।

1 Comment

Leave a Comment

4 × 5 =