Biography

पी कुन्हीकृष्णन का जीवन परिचय | P. kunhikrishnan Biography in Hindi

हेल्लो दोस्तों जरुरी ज्ञान में आपका स्वागत है आज हम बात करने वाले है पी कुन्हीकृष्णन के जीवन परिचय (P. kunhikrishnan biography) के बारे में. पी कुन्हीकृष्णन भारत के जाने मने एक अंतरिक्ष वैज्ञानिक हैं, वर्तमान में पी कुन्हीकृष्णन बेंगलुरु में स्थित यु. आर राव सैटेलाइट सेंटर (U.R.Rao Satellite Centre) के निदेशक (Director) के पद पर आपना कार्य कर रहे हैं।

पी कुन्हीकृष्णन जीवन परिचय

पी कुन्हीकृष्णन का जन्म 30 मई 1961 केरल के पय्यानूर गाव में हुआ था, पी कुन्हीकृष्णन के पिताजी का नाम चिंदा पोडुवल और माता का नाम पी नारायणी अम्मा है. पी कुन्हीकृष्णन का जीवन शास्त्रीय संगीत से भी जुदा हुआ है. पी कुन्हीकृष्णन को बांसुरी बजने में बड़ी दिलचस्पी है, और वह एक प्रोफेसनल बांसुरी वादक भी है. पी कुन्हीकृष्णन ने आपने जीवन में बहुत सरे ख़िताब जीते है,

पी कुन्हीकृष्णन का अभ्यास

P. kunhikrishnan ने अपनी पढाई पय्यानूर में ही कियी थी, पी कुन्हिकृष्णन ने 1981 में पय्यानूर कॉलेज से B.Sc. Mathematics विषय में पूरा किया, और बाद में 1986 में त्रिवेंद्रम के कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में BTech पूरा किया।

पी कुन्हीकृष्णन का व्यवसाय

पी कुन्हीकृष्णन को पहले से ही विज्ञान में रूचि थी, उस ने 1986 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन में शामिल हुए थे, बाद में इंजीनियरिंग कॉलेज त्रिवेंद्रम से स्नातक करने के बाद वह अपने करियर की शुरुआत में विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र में सिस्टम विश्वसनीयता के पद से आपनी सेवा प्रदान की।

PKunhikrishnan image

विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर में ASLV-D1से शुरू होने वाले विभिन्न वाहन मिशनों में योगदान देने के बाद, पी कुन्हीकृष्णन बाद में टेस्ट एंड इवैलुएशन के लिए क्वालिटी डिवीजन के प्रमुख, PSLV-C12 और PSLV-C14 के लिए एसोसिएट प्रोजेक्ट डायरेक्टर और PSLV-C15 से PSLV-C27 (2010-2015) उप निदेशक के पद पर सेवा में थे, यांत्रिकी के लिए VSSC, वाहन एकीकरण और परीक्षण (MVIT) मिशन Director के रूप में भी अपनी सेवा देश के लिए की है, उसके बाद पी कुन्हीकृष्णन ने PSL-C25 द्वारा भारत के प्रतिष्ठित मार्स ऑर्बिटर के प्रक्षेपण सहित 13 लगातार PSLV प्रक्षेपणों अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

पी कुन्हीकृष्णन ने 2015 में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र श्रीहरिकोटा के Director के रूप में पदभार संभाला। उसके बाद 2018 से अब तक U.R.Rao सैटेलाइट सेंटर (URSC) बेंगलुरु के Director के रूप में भी अपनी सेवा देश के लिए समर्पित कर रहे है।

पुरस्कार और सम्मान

कुन्हीकृष्णन को अपने अब तक के जीवन काल में कई सारे पुरस्कार से सम्मानित किया गया है, उस पुरस्कारों की लिस्ट निचे दी गई है

  • इसरो इंडिविजुअल मेरिट अवार्ड 2010.
  • एस्ट्रोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (एएसआई) पुरस्कार 2011.
  • इसरो प्रदर्शन उत्कृष्टता पुरस्कार 2013.
  • पीएसएलवी C-25  मार्स ऑर्बिटर मिशन 2013 के टीम लीडर के रूप में इसरो टीम एक्सीलेंस अवार्ड.
  • स्वदेशी शास्त्र पुरस्कार 2013, के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

P. kunhikrishnan बांसुरी वादक

कुन्हीकृष्णन को बांसुरी बजाना बहुत ही पसंद है, और वह एक professional बांसुरी वादक भी है, इसकी एक जलक आपके सामने रखना चाहते है, सेटेलाइट सेंटर बेंगलुरु के डायरेक्टर कुन्हीकृष्णन ने Parliamentary Standing Committee की बैठक का समापन में बांसुरी की धुन से सबका मन मोह लिया था, उसमे इसरो के चीफ के सीवन भी मोजूद थे, अब देखते है P. kunhikrishnan को बांसुरी बजाते हुए.

 

ये भी पढ़े:

Leave a Comment

14 + fourteen =